Saturday, April 4th, 2020

एडिशनल सॉलिसिटर जनरल इंदिरा जयसिंह ने किया हलफनामे की जानकारी को सार्वजनिक,भड़के गांगुली

images (14)आई एन वी सी,

दिल्ली,

ऐसा लगता है कि फिलहाल सुप्रीम कोर्ट के सेवानिवृत जज एके गांगुली की मुश्किलेँ कम नहीं होंगी बल्कि यौन उत्पीड़न मामले में गांगुली की परेशानी बढ़ ही सकती है। एडिशनल सॉलिसिटर जनरल इंदिरा जयसिंह ने लॉ इंटर्न के उस हलफनामे के बारे में विस्तार से जानकारी दी, जो उसने सुप्रीम कोर्ट की बनाई कमेटी के सामने दिया था। इस हलफनामे में जस्टिस गांगुली पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। इस हलफनामे के मुताबिक़ गांगुली ने कथित तौर पर लॉ इंटर्न से कहा था कि वह उससे प्यार करते हैं और उसके बाद लिफ्ट तक उस लड़की का पीछा किया था और उससे आग्रह किया था कि वह होटल के कमरे को छोड़कर न जाए, जहां वे काम के सिलसिले में ठहरे हुए थे।

इधर जस्टिस गांगुली ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए इंदिरा जयसिंह, भाजपा नेता सुषमा स्वराज और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ज़ोरदार मांगों के बावजूद पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष पद से हटने से इनकार कर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह गांगुली के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर सकता, क्योंकि इस कथित घटना के समय वह शीर्ष अदालत से रिटायर हो चुके थे और पूर्व जजों पर कार्रवाई का उसके पास कोई अधिकार नहीं है। सुप्रीम कोर्ट के इस रुख की कानून के जानकारों और महिला अधिकारों से संबंधित कार्यकर्ताओं ने कड़ी आलोचना की है।

यह घटना कथित तौर पर पिछले साल दिसंबर में दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में हुई थी, जहां यह इंटर्न एक रिपोर्ट के सिलसिले में जस्टिस गांगुली की मदद कर रही थी। उस वक्त राजधानी में एक छात्रा के साथ चलती बस में बर्बर गैंगरेप की घटना के विरोध में जबरदस्त प्रदर्शन हो रहे थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment