Sunday, July 12th, 2020

एक ईंट शहीद के नाम - भाजपा का नया अभियान

Haryana-Governor-Profआई एन वी सी न्यूज़ चंडीगढ, हरियाणा के राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी ने आज राजभवन में एक ईंट शहीद के नाम अभियान में एक-एक ईंट और दो थैले सीमेंट प्रदान किए। उन्होंने एक ईंट जिला कुरूक्षेत्र के पेहवा निवासी शहीद सुशील कुमार के स्मारक के लिए और दूसरी ईंट जिला करनाल के गांव खेड़ी मानसिंह निवासी शहीद राममेहर की स्मृति में बनाए जा रहे अखाड़े के लिए भेंट की। राज्यपाल ने अपनी तरफ से यह भेंट एक ईंट कार्यक्रम के संयोजक संजीव राणा को प्रदान की। इस अवसर पर शहीद लेफ्टिनेंट कर्नल बिक्रमजीत सिंह के पिताजी मेजर पी0जे0 सिंह, शहीद संदीप सांखला के परिजन, अनु पसरीजा, प्रवीण कुमार रत्न, अनु गोयल, विजय गोयल और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। राज्यपाल ने इस अभियान की सराहना करते हुए कहा कि यह अत्यन्त प्रेरणादायी और सुन्दर विचार है। उन्होंने कहा कि इससे शहीदों के सम्मान का संदेश घर-घर जाएगा और लोगों में देशभक्ति की भावना प्रबल होगी। इस अभियान की सफलता के लिए शुभकमानाएं देते हुए प्रो0 सोलंकी ने इसमें हर संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर अभियान के संयोजक संजीव राणा ने बताया कि यह अभियान शुरू होने के बाद से लगातार लोग अपना सहयोग दे रहे हैं। कुछ लोग तो अपने परिवार के साथ ईंट लेकर शहीद के घर पहुंच रहे हैं। हर क्षेत्र से युवा, बुजुर्ग, संस्थाएं और संगठन के लोग उन्हें फोन कर इसकी जानकारी ले रहे हैं। यहां तक कि कुरूक्षेत्र की उपायुक्त सुमेधा कटारिया स्वयं एक कार्यकर्ता की तरह इस काम में लगी हैं और राज्यपाल महोदय द्वारा प्रदान की गई एक ईंट व सीमेंट का थैला उपायुक्त को ही प्रदान कर दिया जाएगा। संजीव राणा ने बताया कि लोगों से मिलने वाली इस सामग्री का प्रयोग ऐसे काम में होगा जिससे शहीदों के प्रति सम्मान तो जगेगा ही साथ ही इससे नई पीढ़ी को प्रेरणा भी मिलेगी। सबसे पहले करनाल के गांव खेड़ी मानसिंह के शहीद राममेहर के नाम पर आधुनिक अखाड़ा बनाया जाएगा। जवान राममेहर की इच्छा थी कि वह अपनी नौकरी के बाद नई पीढ़ी के लिए एक आधुनिक अखाड़ा बनाए। वह सुकमा में नक्सलियों से लड़ते हुए वह शहीद हो गए और उनका सपना अधर में रह गया। उसी सपने को लोगों की मदद से पूरा करने के लिए यह अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि शहीद बिक्रमजीत सिंह का परिवार चंडीगढ़ से मिलने वाली सामग्री को करनाल पहुंचाएगा। इसी प्रकार पंचकूला से एकत्र हुई सामग्री शहीद मेजर संदीप शांकला का परिवार करनाल पहुंचाएगा। उन्होंने बताया कि इसके बाद कुरुक्षेत्र में शहीद सुशील के नाम पर पार्क बनाया जाएगा। राज्यपाल  ने एक ईंट शहीद के नाम अभियान में ईंट भेंट की 10-6-2017 चंडीगढ, 10 जून।   हरियाणा के राज्यपाल प्रोफेसर कप्तान सिंह सोलंकी ने आज राजभवन में एक ईंट शहीद के नाम अभियान में एक-एक ईंट और दो थैले सीमेंट प्रदान किए। उन्होंने एक ईंट जिला कुरूक्षेत्र के पेहवा निवासी शहीद सुशील कुमार के स्मारक के लिए और दूसरी ईंट जिला करनाल के गांव खेड़ी मानसिंह निवासी शहीद राममेहर की स्मृति में बनाए जा रहे अखाड़े के लिए भेंट की। राज्यपाल ने अपनी तरफ से यह भेंट एक ईंट कार्यक्रम के संयोजक संजीव राणा को प्रदान की। इस अवसर पर शहीद लेफ्टिनेंट कर्नल बिक्रमजीत सिंह के पिताजी मेजर पी0जे0 सिंह, शहीद संदीप सांखला के परिजन, अनु पसरीजा, प्रवीण कुमार रत्न, अनु गोयल, विजय गोयल और सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। राज्यपाल ने इस अभियान की सराहना करते हुए कहा कि यह अत्यन्त प्रेरणादायी और सुन्दर विचार है। उन्होंने कहा कि इससे शहीदों के सम्मान का संदेश घर-घर जाएगा और लोगों में देशभक्ति की भावना प्रबल होगी। इस अभियान की सफलता के लिए शुभकमानाएं देते हुए प्रो0 सोलंकी ने इसमें हर संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर अभियान के संयोजक संजीव राणा ने बताया कि यह अभियान शुरू होने के बाद से लगातार लोग अपना सहयोग दे रहे हैं। कुछ लोग तो अपने परिवार के साथ ईंट लेकर शहीद के घर पहुंच रहे हैं। हर क्षेत्र से युवा, बुजुर्ग, संस्थाएं और संगठन के लोग उन्हें फोन कर इसकी जानकारी ले रहे हैं। यहां तक कि कुरूक्षेत्र की उपायुक्त सुमेधा कटारिया स्वयं एक कार्यकर्ता की तरह इस काम में लगी हैं और राज्यपाल महोदय द्वारा प्रदान की गई एक ईंट व सीमेंट का थैला उपायुक्त को ही प्रदान कर दिया जाएगा। संजीव राणा ने बताया कि लोगों से मिलने वाली इस सामग्री का प्रयोग ऐसे काम में होगा जिससे शहीदों के प्रति सम्मान तो जगेगा ही साथ ही इससे नई पीढ़ी को प्रेरणा भी मिलेगी। सबसे पहले करनाल के गांव खेड़ी मानसिंह के शहीद राममेहर के नाम पर आधुनिक अखाड़ा बनाया जाएगा। जवान राममेहर की इच्छा थी कि वह अपनी नौकरी के बाद नई पीढ़ी के लिए एक आधुनिक अखाड़ा बनाए। वह सुकमा में नक्सलियों से लड़ते हुए वह शहीद हो गए और उनका सपना अधर में रह गया। उसी सपने को लोगों की मदद से पूरा करने के लिए यह अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि शहीद बिक्रमजीत सिंह का परिवार चंडीगढ़ से मिलने वाली सामग्री को करनाल पहुंचाएगा। इसी प्रकार पंचकूला से एकत्र हुई सामग्री शहीद मेजर संदीप शांकला का परिवार करनाल पहुंचाएगा। उन्होंने बताया कि इसके बाद कुरुक्षेत्र में शहीद सुशील के नाम पर पार्क बनाया जाएगा।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

Vikram Goel, says on June 11, 2017, 10:23 AM

this noble initiative has nothing to do with BJP. Its not associated with any political party. Please share truth only