Close X
Sunday, December 5th, 2021

उ0प्र0 में नागरिकों को मिलेंगी बेहतर हवाई सेवाएं

आई एन वी सी न्यूज़
लखनऊ,
उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री श्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ ने कहा है कि प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों को एयर कनेक्टिविटी से जोड़ने का कार्य युद्धस्तर पर किया जा रहा है। एयर कनेक्टिविटी से जुड़ने के पश्चात राज्य में बेहतर हवाई सेवाएं नागरिकों को सुगमता से उपलब्ध हो सकेंगी। उन्होंने बताया कि लखनऊ से 21, वाराणसी से 19, गोरखपुर से 06, आगरा से 05, प्रयागराज से 07, कानपुर नगर से 03, हिण्डन से 02 हवाई सेवाएं वर्तमान में उपलब्ध है।


श्री नंदी के अनुसार बरेली एवं कुशीनगर एयरपोर्ट उड़ान के लिए तैयार है। 12 एयरपोर्ट का विकास गतिमान है। उन्होंने बताया कि आजमगढ़, अलीगढ़, मुरादाबाद, श्रावस्ती, चित्रकूट, म्योरपुर (सोनभद्र), झांसी में कुल 07 एयरपोर्ट तेजी से विकसित किये जा रहे हैं। अयोध्या में अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट निर्माण के लिए 500 करोड़ रूपये का प्राविधान किया गया है। गाजीपुर, सहारनपुर (सरसांवा) तथा मेरठ में भी एयरपोर्ट के विकास का कार्य प्रस्तावित है। प्रयागराज एयरपोर्ट के विषय में श्री नंदी ने बताया कि प्रयागराज में वाह्य डेªेनेज हेतु 120.59 लाख रू0 का आगणन प्राप्त हुआ है, जिसका परीक्षण मुख्य अभियन्ता, लोक निर्माण विभाग से कराया जा रहा है।


      मंत्री श्री नंदी ने बताया कि प्रदेश सरकार ने एयर कनेक्टिविटी में जितना कार्य किया है, उतना पहले प्रदेश में कभी नहीं हुआ। निर्माणाधीन 12 नये एयरपोर्ट शीघ्र बनकर तैयार होंगे। प्रदेश के संचालित 8 एयरपोर्ट पर आवश्यक कार्यों, सुधार अािद हेतु धनराशि दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि गोरखपुर एयरपोर्ट जहां से 06 स्थलों के लिए उड़ानें संचालित होती हैं, वहां एक नए सिविल इंक्लेव बनाए जाने हेतु कार्यवाही प्रचलित है। कानपुर एयरपोर्ट में नए सिविल इंक्लेव बनाये जाने हेतु राज्य सरकार द्वारा लगभग 50 एकड़ भूमि क्रय करके निशुल्क रूप में एयरपोर्ट अथारिटी आफ इडिया को उपलब्ध कराई जा चुकी है जिसपर निर्माण कार्य कराया जा रहा है जो वर्ष 2021-22 में पूर्ण होगा। 3.527 हे0 सरकारी भूमि के पुनर्ग्रहण हेतु 1.78 करोड़ रू0 तथा विद्युत संयोजन/विद्युत लाईन को भूमिगत करने हेतु 8.50 करोड़ की मांग के अनुसार वित्तीय स्वीकृति जारी की जा चुकी है।
 
नागरिक उड्यन मंत्री ने अलीगढ़, आजमगढ़, श्रावस्ती, मुरादाबाद, चित्रकूट, सोनभद्र, ललितपुर, अयोध्या, कुशीनगर और जेवर एयरपोर्ट के विषय में बताया कि अलीगढ़, आजमगढ़, श्रावस्ती तथा मुरादाबाद एयरपोर्ट्स में आर0सी0एस0 में चयनित अलीगढ़, आजमगढ़, श्रावस्ती तथा मुरादाबाद एयरपोर्ट्स का नो-फ्रिल्स एयरपोर्ट के रूप में विकास कार्य राज्य सरकार द्वारा उ0प्र0 राजकीय निर्माण निगम लि0 के माध्यम से कराया जा रहा है। वर्तमान समय में 85 से 90 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गए हैं। अलीगढ़ तथा मुरादाबाद एयरपोर्ट्स के पुनरीक्षित आगणनों पर पी0एफ0ए0डी0 की स्वीकृति प्राप्त हो गई है। राज्य सरकार द्वारा अलीगढ़ तथा मुरादाबाद एयरपोर्ट्स के पुनरीक्षित आगणनों पर पी0एफ0ए0डी0 की स्वीकृति प्राप्त हो गयी है तथा बजट की उपलब्धता के अनुसार अलीगढ़ हेतु 426.50 लाख की स्वीकृति जारी हो चुकी है और अलीगढ़ व मुरादाबाद की अवशेष धनराशि की स्वीकृति प्रक्रियाधीन है। चित्रकूट एवं सोनभद्र एयरपोर्ट्स के लिए जलापूर्ति वं मार्ग प्रकाश के लिए धनराशि अवमुक्त की जा चुकी है।
 
नागरिक उड्डयन मंत्री ने बताया कि झांसी एयरपोर्ट का विकास बिड के अनुसार 19 सीटर वायुयानों के संचालन कराये जाने के लिए एएआई द्वारा प्री-फिजिबिलिटी स्टडी कराई गई है। ललितपुर एयरपोर्ट हेतु सर्वे का कार्य हो चुका है। अयोध्या एयरपोर्ट के लिए अब तक 145 एकड़ भूमि क्रय की जा चुकी है।


कुशीनगर एयरपोर्ट को भारत सरकार द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट घोषित किया गया है। यह एयरपोर्ट अन्तर्राष्ट्रीय उड़ानों हेतु लगभग तैयार हो गया है। इसके विभिन्न कार्यों हेतु राज्य सरकार द्वारा 189 करोड़ रू0 की वित्तीय स्वीकृति जारी की जा चुकी है। सहारनपुर एयरपोर्ट के लिए भी 43 करोड़ रू0 की लागत से 64 एकड़ भूमि का क्रय करके ए0ए0आई0 को उपलब्ध कराई जा चुकी है।


      श्री नंदी ने बताया कि जनपद गौतमबुद्धनगर के जेवर में नोएडा इन्टरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट का विकास राज्य सरकार द्वारा कराया जा रहा है। एयरपोर्ट की स्थापना हेतु भूमि अर्जन, पुनर्वासन और पुनव्यर्वस्थापन में उचित प्रतिकर और पारदर्शिता का अधिकार अधिनियम-2013 के अनतर्गत 1334 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया जा चुका है तथा एयरपोर्ट के विकास हेतु ग्लोबल बिडिंग के माध्यम से चयनित विकासकर्र्ता नतपबी ।पतचवतज प्दजमतदंजपवदंस ।ळ द्वारा गठित ैच्ट ल्ंउनदं प्दजमतदंजपवदंस ।पतचवतजे स्जकण् के साथ ब्वदबमेेपवद ।हतममउमदज हस्ताक्षरित हो चुका है। सरकार द्वारा नोएडा इन्टरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट के रनवे की संख्या बढ़ाकर 4 से 6 किये जाने पर भी कार्य किया जा रहा है तथा इसके लिए फिजिबिलिटी स्टडी कराई जा चुकी है।  

Comments

CAPTCHA code

Users Comment