इकबाल के बिखरे ख़यालातआई एन वी सी न्यूज़
नई दिल्ली,
उपराष्‍ट्रति श्री एम. हामिद अंसारी को आज यहां प्रो. अब्‍दुल हक ने ‘बिखरे खयालात’ पुस्‍तक भेंट की। यह पुस्‍तक ‘स्‍ट्रे रिफ्लेक्‍शन्‍स’ शीर्षक से अंग्रेजी में इकबाल के लेखों का उर्दू अनुवाद है। उपराष्‍ट्रति ने बहुमूल्‍य योगदान के लिए प्रो. हक को बधाई दी।
इस पुस्‍तक में इकबाल द्वारा अपने समय पढ़ी गई किताबों पर उनकी दर्ज राय तथा उस समय के माहौल के बारे में उनकी दर्ज भावनाओं पर आधारित है। इसमें इकबाल के विद्यार्थी जीवन का भी जिक्र है। इस पुस्‍तक के अनुसार इकाबल ने 21 अप्रैल, 1910 से लिखना शुरू किया और ऐसा लगता है कि उन्‍होंने कई महीनों तक लिखना जारी रखा। फिर लिखना बंद कर दिया। उन्‍होंने स्‍वयं पुस्‍तक का शीर्षक ‘स्‍ट्रे रिफशेक्‍शन्‍स’ रखा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here