Close X
Friday, October 23rd, 2020

उपचुनाव में भाजपा को पूरा समर्थन

कोरोना के बीच बरोदा विधानसभा में उपचुनाव जल्द हो सकते हैं। चुनाव की तारीखों का ऐलान आज भारतीय चुनाव आयोग कर सकता है। देशभर के अलग-अलग राज्यों में खाली हुई 64 विधानसभा सीटों और 1 लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव होना है। इसको लेकर चुनाव आयोग ने रिव्यू मीटिंग बुलाई है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस रिव्यू मीटिंग के बाद चुनाव आयोग हरियाणा की एक बरोदा विधानसभा सीट के लिए तारीखों का ऐलान कर सकता है।
बरोदा उपचुनाव के मद्देनजर हरियाणा के सीएम ने मंगलवार को चंडीगढ़ में भाजपा विधायकों की बैठक बुलाई है। इस बैठक में चुनाव की रणनीति पर चर्चा हो सकती है। हालांकि विधायकों के कुछ अपने मुद्दे व विधानसभा क्षेत्रों से जुड़े काम भी हैं, उन पर भी सीएम चर्चा करेंगे। इसके अलावा विधायकों की बरोदा उपचुनाव में प्रचार की ड्यूटी लग सकती है।

सोनीपत जिले की बरोदा विधानसभा सीट 1967 के चुनाव से ही है। अभी तक हुए 13 बार हुए चुनावों में इस विधानसभा सीट पर सबसे ज्यादा 5 बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की है। 2009 से लगातार कांग्रेस विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा तीन पर इस सीट से जीत दर्ज कर विधानसभा पहुंचे थे। वे 2009, 2014 और 2019 में जीते थे।

12 अप्रैल 2020 को विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा का निधन हो गया था। वे 74 वर्ष के थे। हुड्डा छह बार के विधायक थे। 2019 के चुनाव में पहलवान योगेश्वर दत्त को हराकर छठी बार विधानसभा पहुंचे थे। चुनाव के मद्देनजर सत्ताधारी दल भाजपा-जजपा ने इस विधानसभा क्षेत्र के लिए सरकारी योजनाओं की झड़ी लगा रखी है। इसके बाद भी भाजपा-जजपा के लिए यहां चुनाव किसी चुनौती से कम नहीं है। कांग्रेस का गढ़ रही इस सीट पर कांटे की टक्कर होगी। 2019 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने यहां से पहलवान योगेश्वर दत्त को चुनाव में उतारा था। श्रीकृष्ण हुड्डा ने योगेश्वर को महज 4840 वोट से हराया था। अब देखना यह भी विशेष रहेगा कि भाजपा और कांग्रेस किस उम्मीदवार को मैदान में उतारती है। जजपा पहले ही साफ कर चुकी है कि उपचुनाव में उनका भाजपा को पूरा समर्थन है लेकिन उम्मीदवार भाजपा का होगा। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment