Close X
Thursday, October 1st, 2020

उत्तराखंड की लकड़ी महिलाओ के लिए उत्तम इंधन

dआई एन वी सी न्यूज़ नई दिल्ली, बुधवार को नई दिल्ली स्थित उत्तराखण्ड सदन में मुख्यमंत्री हरीश रावत की उपस्थिति में उत्तराखण्ड सरकार एवं इंटरनेशनल आॅयल काॅरपोरेशन(आई.ओ.सी) यू.ए.ई एवं काबूल और नूवाम लि. हांगकांग के बीच एम.ओ.यू पर हस्ताक्षर किए गए। उत्तराखण्ड सरकार की ओर से सचिव शहरी विकास, लोक निर्माण विभाग डी.एस.गब्र्याल और आई.ओ.सी के चेयरमैन फैजल रहीम ने एम.ओ.यू पर हस्ताक्षर किए। इंटरनेशनल आॅयल काॅरपोरेशन द्वारा उत्तराखण्ड में 500 मिलियन डाॅलर का निवेश किया जायेगा। साथ ही एल.पी.जी गैस प्लांट, पेट्रोलियम, सड़क, टनल व एलीवेटेड रोड, ऊर्जा आदि की योजनाओं में भी निवेश व तकनीकि सहयोग प्रदान किया जायेगा। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड के पहाड़ी क्षेत्रों की महिलाएं ईंधन के रूप में लकड़ी का इस्तेमाल करती है। आई.ओ.सी के निवेश से पहाड़ी क्षेत्रों में एल.पी.जी. के उपयोग को बढ़ावा मिलेगा साथ ही इससे पहाड़ी क्षेत्रों की महिलाओं का काफी सुविधाएं भी मिलेगी। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि आई.ओ.सी के इस निवेश से राज्य में अवस्थापना सुविधाओं का विकास होगा। ग्राम पंचायतों में छोटे सोलर एवं हाइड्रो प्रोजेक्टों के लिए वित्तीय एवं तकनीकि सहायता ली जायेगी। उन्होंने कहा कि जल विद्युत परियोजनाओं के अलावा एलीवेटेड रोड़, टनल तथा शहरों में रिंग रोड बनाने की तकनीक में भी आइओसी सहयोग प्रदान करेंगी। इसके साथ ही 6 बडे शहरों में सीएनजी, एल.पी.जी प्लांट एवं पेट्रोलियम संयंत्रों की स्थापना की जायेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के सलाहकार रणजीत रावत, मुख्य प्रधान सचिव(मुख्यमंत्री) राकेश शर्मा, सचिव डी.एस.गब्र्याल, अपर स्थानिक आयुक्त एस.डी.शर्मा आदि उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment