Saturday, May 30th, 2020

इस बार बनारस से गुंजेगी भाजपा की 'नमो नमो', आखिरकार छोड़नी ही पड़ी जोशी जी को काशी की सीट

14-narendra-modi-in-odishaआई एन वी सी,

दिल्ली,

काफी उहापोह और अन्दरुनी कवायद के बाद आज भाजपा ने अपनी बहुप्रतीक्षित चौथी लिस्ट जारी कर ही दी है। इस लिस्ट में पार्टी के पीएम कैंडिडेट नरेंद्र मोदी, पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह और बुज़ुर्ग नेता मुरली मनोहर जोशी जैसी दिग्गजों के नाम हैं। आखिरकार वही हुआ जिसकी संभावना जताई जा रही थी, मोदी वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे और यहां के मौजूदा सांसद मुरली मनोहर जोशी कानपुर से पार्टी के उम्मीदवार होंगे। राजनाथ सिंह ने भी अपनी सीट बदल ली है, वह गाज़ियाबाद को छोड़कर लखनऊ से उम्मीदवार होंगे। साथ ही बिहार के पटना साहिब से शत्रुघ्न सिन्हा को उम्मीदवार बनाया गया है।

उत्तर प्रदेश की 55 सीटों के अलावा बीजेपी की चौथी लिस्ट में दिल्ली, हरियाणा और उत्तराखंड के सारे उम्मीदवारों की घोषणा कर दी गई है।

भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह लखनऊ और मुरली मनोहर जोशी कानपुर सीट से मैदान में उतरेंगें। सुलतानपूर सीट से वरूण गांधी को टिकट दिया गया है। जबकि कलराज मिश्र देवरिया से चुनाव लड़ेंगे। इलाहाबाद से केसरी नाथ त्रिपाठी को मैदान में उतारा जाएगा। वाराणसी सीट पर इस समय भाजपा का कब्ज़ा है और पार्टी के नेता मुरली मनोहर जोशी इस सीट से सांसद हैं। जोशी यह सीट छोडऩे को तैयार नहीं थे, पर पार्टी द्वारा मनाए जाने के बाद जोशी ने अपनी यह सीट मोदी को देने पर सहमती जता दी।

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मेरठ से राजेंद्र अग्रवाल, बागपत से मुंबई के पूर्व कमिश्नर सत्यपाल सिंह, कैराना से हुकुम सिंह, गौतमबुद्धनगर से शहर के विधायक और मशहूर डॉक्टर महेश शर्मा और एटा से राजबीर सिंह, झांसी से उमा भारती उम्मीदवार बनाए गए हैं। देवरिया से कलराज मिश्र, झांसी से उमा भारती, पीलीभीत से मेनका गांधी और सुल्तानपुर से वरुण गांधी को उम्मीदवार बनाया गया है।

वाराणसी और लखनऊ की सीटों को लेकर फंसे पेच की वजह उत्तर प्रदेश से बीजेपी उम्मीदवारों की लिस्ट 13 मार्च को जारी नहीं हो पाई थी। बताया जा रहा है कि जोशी और लखनऊ के मौजूदा सांसद लालजी टंडन अपनी सीट छोड़ने के लिए तैयार नहीं थे। सूत्र बताते हैं कि लालजी टंडन को राज्यसभा भेजने का ऑफर दिया गया है, जबकि जोशी से जब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेताओं ने बात की तो उन्होंने कहा कि वह किसी सीट के लिए परेशान नहीं हैं, लेकिन हर बात तरीके से होनी चाहिए। उन्होंने अपनी सीट बदलने के लिए हामी भर दी और मोदी का वाराणसी से लड़ने का रास्ता साफ हो गया।

भाजपा महासचिव अनंत कुमार ने यह जानकारी देते हुए कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली को अमृतसर से उम्मीदवार बनाया गया है जो वर्तमान सांसद नवजोत सिंह सिद्धू के स्थान पर चुनाव लड़ेंगे। पार्टी ने 12 राज्यों के 55 उम्मीदवारों के नाम को अंतिम रूप दिया। पटना साहिब से वर्तमान सांसद शत्रुन सिन्हा को उम्मीदवार बनाया गया है। इस सीट पर पार्टी प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद के चुनाव लड़ने के इच्छुक होने की खबर आ रही थी।

भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष हर्षवर्धन को पार्टी ने चांदनी चौक से टिकट दिया गया है जबकि पीलीभीत से मेनका गांधी, सुल्तानपुर से वरुण गांधी, झांसी से उमा भारती, गोरखपुर से योगी आदित्यनाथ को उम्मीदवार बनाया है।चंडीगढ़ से भाजपा ने किरण खेर को चुनावी मैदान मेँ उतारा है।

वाराणसी उत्तर प्रदेश का धार्मिक शहर है और भाजपा को लगता है कि मोदी को इस सीट से मैदान में उतारने से यूपी और बिहार में भाजपा के पक्ष में माहौल बनेगा। कांग्रेस ने अभी इस सीट से अपने उम्मीदवार का ऐलान नहीं किया है।बदले हालातों में नरेंद्र मोदी को इस सीट पर कौन टक्कर दे पाता है ये देखने वाली बात होगी।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment