Friday, November 22nd, 2019
Close X

इंधन बचा कर जन-धन बढ़ाने की नसीहत

governor balramji das tondonआई एन वी सी न्यूज़
रायपुर, राज्यपाल श्री बलरामजी दास टण्डन ने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थ एवं उसके उत्पाद गुणों की खान है और हमारे दैनिक जीवन का अभिन्न अंग हैं। हमें ऐसे बहुमूल्य पदार्थों का अधिक से अधिक संरक्षण करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि देश के हर नागरिक का यह दायित्व है कि न केवल तेल एवं गैस बल्कि दैनिक जीवन में अत्यधिक उपयोगी जल तथा बिजली का भी किफायत के साथ प्रयोग करें, बचत करें और इसे अपनी जीवन शैली का अभिन्न हिस्सा बनाएं। राज्यपाल श्री टंडन ने यह उद्गार आज यहां रायपुर में स्टेट लेवल को-ऑर्डिनेटर, तेल उद्योग, छत्तीसगढ़ द्वारा आयोजित तेल एवं गैस संरक्षण पखवाड़ा के समापन समारोह में व्यक्त किए।
राज्यपाल श्री टंडन ने कहा कि एक समय था, जब अरब देश पिछड़े माने जाते थे, लेकिन आज ‘लिक्विड गोल्ड’ की खान वहां मिलने से वे न केवल हमारे देश को, बल्कि दुनिया भर को गतिशील बना रहे हैं। यही वजह है कि शक्तिशाली राष्ट्र, अरब देशों पर अपना आधिपत्य स्थापित करने का प्रयास भी करते रहे हैं। हर देश कम कीमत पर अधिक से अधिक पेट्रोलियम प्राप्त करना चाहता है। हमारे देश में पेट्रोल के 20 प्रतिशत भंडार उपलब्ध है तथा लगभग 80 प्रतिशत कच्चा तेल विदेशों से आयातित किया जाता है। जिससे हमारा बहुमूल्य विदेशी मुद्रा भंडार भी प्रभावित होता है। हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि जब पेट्रोलियम की कीमत कम हो, तब हम इसका अधिक से अधिक भंडारण कर सकें तथा समय पड़ने पर इसका विवेकपूर्ण सदुपयोग कर सकें, जिससे लोगों को राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि देश एवं प्रदेश में बड़े शहरों को चिन्हित कर वहां घरेलू गैस का सदुपयोग करने एवं बचत के तरीकों से अवगत कराने के लिए महिला सम्मेलनों का आयोजन किया जाना चाहिए, ताकि गृहणियां व्यावहारिक रूप से ऐसी कार्यशालाओं को देखकर गैस की मिव्तययता के लिए प्रोत्साहित हो सकें।
स्टेट लेवल को-ऑर्डिनेटर, तेल उद्योग, छत्तीसगढ़ के प्रमुख श्री राजा मुनी ताम्रकार ने 16 से 31 जनवरी तक चलाए गए तेल एवं गैस संरक्षण पखवाड़ा समारोह की गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि स्थानीय स्तर पर नागरिकों में जागरूकता के लिए संदेश एवं सुझाव का प्रचार-प्रसार रेडियो, टी.व्ही., मीडिया एवं  अन्य माध्यमों से किया गया। क्षेत्रीय मैनेजर श्री आशीष पारूलकर ने बताया कि कच्चे तेल के भंडार सीमित होते हैं, इसलिए हर नागरिक का यह कर्तव्य है कि वे उनका सदुपयोग करें। उन्होंने कहा कि गृहणियां घरेलू गैस में 20 से 30 प्रतिशत तक की बचत कर सकती हैं। घरेलू गैस के किफायत तरीके से एक यूनिट की बचत होने पर आर्थिक बचत भी होगी।
इस अवसर पर राज्यपाल श्री टंडन ने तेल एवं गैस संरक्षण हेतु जागरूकता बढ़ाने के लिए पैरों से अनोखी चित्रकारी कर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली कु. दामिनी सेन को पुरस्कृत किया। राज्यपाल ने इस पखवाड़े के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेता प्रतिभागियों को सम्मानित किया। जिनमें क्विज में विभिन्न स्कूलों से प्रथम स्थान पर श्री पंकज गोवर्धन वर्मा, लक्ष्मी साहू, दिलेश्वरी चन्द्राकर, निधि अग्रवाल, हर्षवर्धन साहू, आयुषि अग्रवाल, शुभम साहू, सोमेन्दर सिंह, हिमांशु तिवारी तथा निबंध लेखन में प्रथम, दीपाली साहू शामिल हैं। इस अवसर पर बड़ी संख्या में विद्यार्थी एवं नागरिकगण उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में हिन्दुस्तान पेट्रोलियम के मैनेजर श्री रविशंकर पम्मी ने आभार प्रदर्शन किया।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment