Monday, June 1st, 2020

आरक्षण आंदोलन के लिए अगर एक भी गिरफ्तारी हुई तो तीन गांव भर देंगे जेल

c9a23fb0-06d1-4fe6-ba4b-849f09499118आई एन वी सी न्यूज़
रोहतक,
आज गांव बोहर स्थित नान्दल भवन में गांव बोहर, गढ़ी बोहर व माजरा गांवों की 36 बिरादरी की पंचायत हुई। जिसकी अध्यक्षता वयोवृद्ध चौ. रघुबीर नान्दल ने की। जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान हुई गिरफ्तारियों के लिए सभी ने विरोध किया। पंचायत में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि यदि आज के बाद 36 बिरादरी के किसी भी व्यक्ति की गिरफ्तारी पुलिस ने कमेटी की अनुमति के बिना की तो पूरे के पूरे गांव के लोग एक साथ गिरफ्तारियां देंगे। मौके पर मौजूद पंचायत में मुख्य लोगों में से एक कमेटी का गठन भी किया गया जो पुलिस के उच्च अधिकारियों को बतायेंगे कि हो रही गिरफ्तारियों के कारण गांव तथा समाज में आक्रोश पनपता जा रहा है। इन गिरफ्तारियों के कारण स्थिति फिर पहले से ज्यादा विस्फोटक हो सकती है। समाज एवं गांव की 36 बिरादरियों को एकजुट करते हुए कहा गया कि अगर कमेटी की अनुमति के बिना कोई एक भी गिरफ्तारी की गई तो 36 बिरादरी के लोग इस तानाशाही व पुलिस की कार्यशैली का पुरजोर विरोध करेंगे। इसके अलावा इस सम्बन्ध में जल्द ही सरकार से भी बातचीत की जायेगी तथा सभी केस खारिज कर आंदोलनकारियों को रिहा करने की मांग की जायेगी। पंचायत में महेन्द्र सिंह नान्दल, जुगनू बोहर, अठगामा प्रधान बलराज, पं. अनिल कौशिक, चन्द्र बैरागी, डा. सुरेश नान्दल, राजे आदि ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर ओम माजरा, राजेन्द्र, कैलाश गढ़ी, देवेन्द्र, बलजीत, कुलदीप, काला, बल्लू, रमेश, प्रवेश, राजेश बोहर, एडवोकेट देवेन्द्र आदि सहित अनेक लोग मौजूद थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment