Close X
Saturday, November 27th, 2021

आत्मनिर्भर बनेगा लखनऊ नगर निगम

मुंबई/लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथकी मौजूदगी में बुधवार को लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड (Bond) की बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में लिस्टिंग होगी. लखनऊ नगर निगम उत्तर भारत का पहला म्युनिसिपल कॉरपोरेशन है जिसने इस तरह का बॉन्ड जारी किया है. 13 नवंबर को जारी हुए इस बॉन्ड से लखनऊ नगर निगम ने अब तक 200 करोड़ रुपए जुटाए हैं. इस म्युनिसिपल बॉन्ड के जरिए राजधानी लखनऊ के कायाकल्प की तैयारी है.

यूपी का यह पहला म्युनिसिपल बॉन्ड
मुख्यमंत्री के साथ मुंबई पहुंचे नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि बॉन्ड लाने के लिए केंद्र सरकार लखनऊ नगर निगम 26 करोड़ रुपए की सब्सिडी देगी. उन्होंने बताया कि यूपी का यह पहला म्युनिसिपल बॉन्ड 225 फीसदी से ज्यादा सब्सक्राइब हुआ है. अब बीएसई में लिस्टिंग के बाद यह ट्रेडिंग के लिए भी उपलब्ध होगा.नगर विकास मंत्री ने बताया कि बॉन्ड के माध्यम से जुटाई गई धनराशि को राज्य की राजधानी में विभिन्न बुनियादी ढांचागत योजनाओं में निवेश किया जाएगा. नवंबर के शुरुआती हफ्ते में लखनऊ नगर निगम ने बीएसई बॉन्ड मंच के माध्यम से नगरपालिका बॉन्ड जारी करके 200 करोड़ रुपये जुटाए हैं.

10 साल में मेच्यौर होगा बॉन्ड
गौरतलब है कि लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड पर निवेशकों को 8.5 फीसदी वार्षिक ब्याज मिलेगा और इसकी परिपक्वता अवधि 10 साल है. उम्मीद है कि इस बॉन्ड की सफल लॉन्चिंग से लखनऊ नगर निगम की तस्वीर बदलेगी और उसे देश-विदेश से निवेश जुटाने में मदद भी मिलेगी. इसके साथ ही सरकार अन्य जिलों के नगर निगम के बॉन्ड भी जल्द जारी होंगे. सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया कि स्टॉक एक्सचेंज में म्युनिसिपल बॉण्ड के सूचीबद्ध हो जाने से जनता को बुनियादी सुविधाएं देने के लिए धन की कोई कमी नहीं होगी. PLC.
 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment