Close X
Sunday, October 25th, 2020

आज पूरा समाज पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव के चलते तेजी से नैतिक पतन की ओर बढ़ रहा है : संजय राठी

sanjay rathiआई एन वी सी,
रोहतक, स्थानीय प्रेम नगर स्थित आर्य चौपाल में सर्वखाप पंचायत ने मुज्जफरनगर दंगों में मारे गये हिंदुओं की आत्मा की शांति के लिए हवन-यज्ञ का आयोजन कर श्रद्धांजलि दी। तत्पश्चात ऑनर किलिंग के मुद्दे पर गहन विचार-विमर्श कर प्रस्ताव पास किये गये। सर्वखाप पंचायत की अध्यक्षता करते हुए मलिक गठवाला खाप के दादा बलजीत सिंह मलिक ने कहा कि ऑनर किलिंग एक गंभीर सामाजिक समस्या है। ईश्वर के दिये हुए जीवन को किसी को छीनने का अधिकार नहीं दिया जा सकता। वहीं पंचायत के संयोजक जसबीर सिंह मलिक ने कहा कि ऑनर किलिंग के लिए सीधे रूप से सरकार जिम्मेवार है। यदि हिन्दू मैरिज एक्ट - 1955 में राज्य व केन्द्र सरकार समय रहते परिवर्तन करती तो इस तरह की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लग सकता था। उन्होंने सरकार से खून और दूध के रिश्ते ‘पिता’ और ‘माता’ के गोत्र में शादी किये जाने पर अंकुश लगाया जाये। पंचायत को संबोधित करते हुए नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के उपाध्यक्ष संजय राठी ने कहा कि आज पूरा समाज पश्चिमी सभ्यता के प्रभाव के चलते तेजी से नैतिक पतन की ओर बढ़ रहा है। हमारी युवा पीढ़ी को हमारी समृद्ध संस्कृति और परम्पराओं को समझना होगा तभी जाकर एक स्वस्थ समाज का निर्माण हो सकेगा। ऑनर किलिंग की घटनाओं पर मीडिया का दृष्टिकोण बदला जाना चाहिये। मीडिया इस तरह की घटनाओं को बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रहा है। पंचायत में हरियाणा राजकीय अध्यापक कल्याण संघ के संरक्षक देवराज नांदल ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों से हरियाणा सरकार ने माध्यमिक व उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों से नैतिक शिक्षा के विषय को पूर्ण रूप से पाठ्यक्रम से हटा दिया है। जोकि बेहद दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। नैतिक शिक्षा को पुन: पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाना चाहिये ताकि युवाओं में नैतिक शिक्षा का प्रोत्साहन हो सके। सामाजिक मामलों के जानकार व सुप्रसिद्ध अधिवक्ता कर्नल चन्द्र सिंह दलाल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में खाप पंचायतों की तरफ से ठोस पैरवी की जा रही है। केंद्र सरकार हमारे सामाजिक ताने-बाने और खाप पंचायतों के अस्तित्व को ही मिटाने का लगातार षड्यंत्र कर रही है। उन्होंने भी आत्मसम्मान के नाम पर की जा रही ऑनर किलिंग की घटनाओं पर क्षोभ व्यक्त किया और कहा कि आज तक किसी भी खाप पंचायत ने किसी को मारने का प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से कोई आदेश नहीं दिया। सर्वखाप पंचायत में सर्वसम्मति से तीन प्रस्ताव पारित किये गये। प्रस्ताव में हिन्दु मैरिज एक्ट - 1955 में संशोधन करने, शिक्षा विभाग द्वारा माध्यमिक, उच्च माध्यमिक व उच्चतर शिक्षा पाठ्यक्रमों में नैतिक शिक्षा के विषय को अनिवार्य रूप से लागू करने व इंटरनेट पर अश£ील सामग्री परोसे जाने पर रोक लगाई जाये। जिससे किशोरों का नैतिक पतन न हो सके। उक्त प्रस्ताव का हस्ताक्षरित ज्ञापन राज्य व केन्द्र सरकार को भेजा गया। सर्वखाप पंचायत का मंच संचालन जसबीर सिंह मलिक ने किया। उपस्थित खापों व प्रबुद्धजनों में हुड्डा खाप के कार्यकारी अध्यक्ष रामकरण हुड्डा, प्रवक्ता इन्द्र सिंह हुड्डा, धनखड़ खाप के प्रधान ओमप्रकाश धनखड़, झज्जर-360 के प्रधान हैडमास्टर ताराचंद जाखड़, आर्य समाज के क्षेत्रीय प्रधान वेदपाल आर्य, अध्यापक संघ के देवराज नांदल, आनंद स्वरूप, श्योकंद खाप के डॉ. किताब सिंह श्योकंद, ईश्वर सिंह आर्य, नसीब अहलावत, कैप्टन जगबीर मलिक, धर्मपाल हुड्डा, वेदपाल देशवाल, ओमप्रकाश मलिक, सत्यनारायण सिवाच, ओमप्रकाश सिवाच, महाबीर शास्त्री, शमशेर सिंह नेहरा, ईश्वर सिंह आर्य, रमेश ढाका, फूल सिंह ढाका, रिवाड़ी से कैप्टन चाँद राम, सतरोल पंचगामा खाप से वीरभान आदि सहित सैंकडों स्थानीय प्रबुद्धजन व खाप प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment