Wednesday, May 27th, 2020

आकांक्षाओं को समझे बिना मुद्दों का हल मुश्किल

नई ‎दिल्ली । उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने नेताओं से यह समझने का आग्रह किया कि लोगों की आकांक्षाएं बढ़ रही हैं और वे अपनी समस्याओं के हल के लिए राजनीतिक दलों को ज्यादा समय नहीं देंगे। उन्होंने यह भी कहा कि लुटियन दिल्ली के मित्र कभी-कभी गलत हो जाते हैं क्योंकि लोगों तक पहुंचे बिना समाधान नहीं मिल सकता है। पत्रकार-सांसद एमपी वीरेंद्र कुमार की पुस्तक हिमालयन ओडिसी के विमोचन के मौके पर एक सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पहले वे एक पार्टी को 50 साल देते थे। अब चीजें बदल गई हैं लोग अधिकतम पांच साल या 10 साल देते हैं। जब तक नेता और नीति निर्माता कड़ी मेहनत नहीं करेंगे और लोगों की आकांक्षाओं को समझने की कोशिश नहीं करेंगे, तब तक वे उनके मुद्दों को हल नहीं कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि मुझे और सभी को यह समझना होगा कि लोगों की समस्याएं और उनकी जीवन स्थिति नेताओं के लिए, नीति निर्माताओं के लिए गहन अध्ययन, यही कारण है कि कभी-कभी लुटियन दिल्ली के हमारे मित्र गलत हो जाते हैं क्योंकि अगर आप यहां से सोचना शुरू करते हैं। यहां से कल्पना करें, बिना घूमे, फिर लोगों की। हमेशा एक परिवर्तन चल रहा होता है, हमें समाधान खोजना चाहिए। PLC 



 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment