Friday, December 13th, 2019

आईआईएम कलकत्‍ता में दूसरे अंतर्राष्‍ट्रीय वित्‍त सम्‍मेलन का आयोजन वैश्‍विक वित्‍तीय संकट के दौरान भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था का लचीलापन देश के आर्थिक प्रबंध की परिपक्‍वता का सबूत : प्रणब मुखर्जी

आई. एन. वी. सी ,, कोल्कता ,, केंद्रीय वित्‍त मंत्री श्री प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि वैश्‍विक वित्‍तीय संकट के दौरान भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था ने जो लचीलापन दिखाया, वह देश के आर्थिक प्रबंध की परिपक्‍वता और हमारे उद्यमियों की बढ़ती प्रतिस्‍पर्द्धा का सबूत है। उन्‍होंने आज यहां आईआईएम कलकत्‍ता द्वारा आयोजित दूसरे अंतर्राष्‍ट्रीय वित्‍त सम्‍मेलन के शुभारंभ के अवसर पर कहा कि 2010-11 की पहली छमाही में सकल घरेलू उत्‍पाद की वृद्धि दर 8.9 प्रतिशत रही। इससे देश एक बार उच्‍च विकास के पथ पर लौट आया है, जो संकट से पहले विकास की इसी दर पर आगे बढ़ रहा था। बैंकिंग, प्रतिभूति बाजारों और बीमा क्षेत्र में स्‍वीकृत ज्‍यादातर अंतर्राष्‍ट्रीय मानकों की दक्षता को रेखांकित करते हुए वित्‍त मंत्री ने कहा कि हमने ऐच्‍छिक रूप से सम्‍पूर्ण वित्‍तीय क्षेत्र आकलन कार्यक्रम की तलाश की है, जो अंतर्राष्‍ट्रीय आकलन अभ्‍यास है और अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्रा कोष तथा विश्‍व बैंक यह प्रक्रिया अपनाते हैं। श्री प्रणब मुखर्जी ने कहा कि आज देश इस स्‍थिति में है कि आगामी दशकों में उच्‍च आर्थिक विकास दर बनाए रख सकता है तथा समाज के लिए ज्‍यादा समावेशी परिणाम हासिल कर सकता है।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

Lynne Huewe, says on March 17, 2011, 7:47 AM

ample tally you've possess