Saturday, February 29th, 2020

अर्थ-व्यवस्था को गतिमान बनाना मेरी पहली प्राथमिकता है : शिवराज सिंह चौहान

shivraj singh chauhanआई एन वी सी, भोपाल, मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश की अर्थ-व्यवस्था को गतिमान बनाना उनकी पहली प्राथमिकता है। श्री चौहान आज होशंगाबाद जिले के सिवनी-मालवा विकासखण्ड के सलकनपुर धर्मकुण्डी मार्ग स्थित आँवली घाट पर नर्मदा सेतु का शिलान्यास कर रहे थे। लगभग 630 मीटर लम्बाई के इस सेतु की लागत करीब 24 करोड़ रुपये है। सेतु निर्माण से होशंगाबाद, हरदा और आसपास के ग्रामवासियों का सीहोर तथा भोपाल से सीधा सम्पर्क और बारहमासी यातायात उपलब्ध होगा। इस अवसर पर वन मंत्री श्री सरताज सिंह भी उपस्थित थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवाओं को खुद के रोजगार स्थापित करने में मदद के लिये लागू की गई मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना का विधिवत शुभारंभ भी किया। उन्होंने योजना में बैंकों द्वारा स्वीकृत एक करोड़ 5 लाख रुपये के स्वीकृति-पत्र 7 युवाओं को प्रदान किये। एक हितग्राही को उन्होंने महेन्द्रा जायलो गाड़ी की चाबी भी सौंपी। मुख्यमंत्री ने 37 करोड़ रुपये लागत के 17 निर्माण कार्य का भूमि-पूजन और लोकार्पण भी किया। उन्होंने पिपरिया, बनखेड़ी, सुहागपुर, बाबई और केसला के लिये एक-एक 108 एम्बुलेंस प्रदान की। उन्होंने महिला किसान सुमित्राबाई को खसरा किश्तबंदी की नकल दी। श्री चौहान ने कुछ हितग्राहियों को वन अधिकार अधिनियम में वन भूमि के अधिकार-पत्र भी वितरित किये। मुख्यमंत्री ने सिवनी-मालवा के सरकारी अस्पताल को 30 से बढ़ाकर 60 बिस्तर का बनाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में लघु एवं कुटीर उद्योगों का विस्तार किया जायेगा। बीते 8 वर्ष में प्रदेश में 90 हजार किलोमीटर सड़कों का निर्माण और उन्नयन किया गया है। उन्होंने कहा कि मई माह के अंत तक होशंगाबाद जिले के सभी गाँव को 24 घंटे बिजली मिलने लगेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेती को लाभ का व्यवसाय बनाने की दिशा में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। इस संदर्भ में उन्होंने किसानों को बिजली, खाद, सिंचाई तथा जीरो प्रतिशत पर ऋण आदि सुविधाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गेहूँ की खरीदी पर 150 रुपये प्रति क्विंटल बोनस दिया जा रहा है। किसानों को बिजली बिलों में बड़ी राहत दी गई है। बच्चों की शिक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गरीबों को निःशुल्क आवास देने के लिये मुख्यमंत्री अंत्योदय आवास योजना पर विचार किया जा रहा है। इस अवसर पर विधायक श्री गिरिजाशंकर शर्मा, श्री विजयपाल सिंह, बीज विकास निगम के अध्यक्ष श्री मधुकर राव हर्णे, इलेक्ट्रानिक विकास निगम के अध्यक्ष श्री प्रेमशंकर वर्मा, गौ-संवर्धन बोर्ड के अध्यक्ष श्री शिव चौबे तथा अन्य जन-प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment