Close X
Tuesday, March 2nd, 2021

अमेरिका में करीब 18 मिलियन लोग बेरोजगार

शपथ लेने से पहले ही अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने अमेरिकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए बड़े कदम उठाने की घोषणा की है। उन्होंने कोरोना वायरस की मार से देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 1.9 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज का ऐलान किया है। उनके इस कदम से हर अमेरिकी के खाते में सीधे 1400 डॉलर जाएंगे। इस पैकेज में कोरोना से लड़ने के लिए 415 बिलियन डॉलर दिए गए हैं। जबकि छोटे कारोबारियों के लिए 440 बिलियन डॉलर का ऐलान किया गया है।
उल्लेखनीय है कि अमेरिका में अब तक कोरोना वायरस से 3 लाख 85 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। जो बाइडन ने चुनाव प्रचार के दौरान ही कोरोना से लड़ने के लिए बड़े कदम उठाने का वादा किया था। उनका यह ऐलान उस समय आया है, जब अमेरिका में इन दिनों हर दिन कोरोना के औसतन 2 लाख नए केस सामने आ रहे हैं। हर रोज़ 4 हज़ार लोगों को मौत हो रही है। गुरुवार को टीवी पर प्राइम टाइम स्पीच के दौरान उन्होंने कहा हमारे देश की स्वास्थ्य व्यवस्था चुनौतियों का सामना कर रही है। हमें तुरंत इस पर कदम उठाने होंगे। हम ठोकरें खाएंगे। लेकिन हम हमेशा आपके साथ ईमानदार रहेंगे'
बाइडन हर अमेरिकी को वैक्सीन लगाने के लिए 20 बिलियन डॉलर खर्च करना चाहते हैं। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के दौरान ही दो वैक्सीन को अमेरिका में इमरजेंसी अप्रूवल दी गई। लेकिन अब अधिकारियों का कहना है कि वैक्सीनेशन में तेजी लानी होगी। बाइ़डन ने कहा है कि वो देश के कोने-कोने में वैक्सीन पहुंचाना चाहते हैं। वाइडन के मुताबिक देश में कोरोना की टेस्टिंग भी बढ़ाई जाएगी।
अमेरिका में इस समय बेरोजगारी तेजी से बढ़ रही है। इस समय  अमेरिका में करीब 18 मिलियन लोग बेरोजगार हैं। बाइडन के नए ऐलान के बाद अमेरिका में बेरोजगार लोगों को 300 डॉलर प्रति सप्ताह की जगह 400 डॉलर प्रति सप्ताह मिलेंगे। नव-निर्वाचित राष्ट्रपति ने हर घंटे की न्यूनतम मजदूरी 15 डॉलर से दोगुना करने का वादा किया है। कहा जा रहा है कि ट्रंप की पार्टी नए भारी भरकम पैकेज का विरोध कर सकती है।  PLC.

 

Comments

CAPTCHA code

Users Comment