Close X
Tuesday, April 20th, 2021

अमित शाह दे इस्तीफा - BJP के राज में हिंदू भी सुरक्षित नहीं

दिल्ली के मंगोलपुरी इलाके में बुधवार रात  BJP कार्यकर्ता रिंकू शर्मा की चाकू मारकर हत्या किए जाने के मामले में सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी  ने इस मामले में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफे की मांग की गई है।

'आप' के विधायक सौरभ भारद्वाज ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि परसों दिल्ली में एक परिवार के सामने कुछ लोगों ने मिलकर परिवार पर हमला किया और उनके बेटे रिंकू शर्मा की निर्मम हत्या कर दी गई, इससे कई तरह के सवाल खड़े होते हैं। रिंकू शर्मा की हत्या पूरी मानवता को शर्मसार करती है। दोषियों को कठोर सजा मिलनी चाहिए और इसकी एक मिसाल बननी चाहिए।

भारद्वाज ने कहा कि एक दिल्लीवासी और विधायक के तौर पर चिंता होती है कि दिल्ली में हत्याओं की खबरें आम हो गई हैं। उन्होंने कहा कि जब केंद्र में भाजपा की सरकार आई तो एक समुदाय समझता था कि वो सुरक्षित नहीं है, लेकिन जैसे इनके राज को 6 साल हुए तो मुस्लिम के साथ दलितों में भी असुरक्षा की भावना आने लगी।

भारद्वाज ने कहा कि BJP के राज में हिंदू भी सुरक्षित नहीं है। 3 महीने पहले राहुल राजपूत की निर्मम हत्या हुई थी। महिला मित्र के सामने लोग उससे पीटते रहे। जब वो पुलिस के पास गई तो पुलिसवाले चाय पीते रहे, लेकिन मदद नहीं की। क्या गृहमंत्री ने उस मामले में पुलिस वालों पर कार्रवाई की?

इन हत्याओं में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की पूरी जिम्मेदारी है, इनकी नाक के नीचे हत्याएं हो रही हैं और पुलिस होने दे रही है। इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा वाले अपने राजनीतिक फायदे के लिए हमारे हिन्दू बच्चों की जान ले रहे हैं।

दिल्ली में लगातार हत्याएं हो रही हैं और गृहमंत्री अमित शाह कुम्भकर्णी नींद सोए हुए हैं। भाजपा अपने राजनीतिक फायदे के लिए हिंदू बच्चों की जान मत ले। हमारे बच्चों को इसलिए मत मरवाओं ताकि राजनीतिक रोटियां सेंक सको।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पिछले एक महीने में जो कुछ भी घटा है, जो नफरत सिख समुदायों के प्रति दिखी है, जिन पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला किया है। उन्हें भी डर है कि ये भाजपा कुछ ना कुछ करके सिख समुदाय पर और हमला करवाएगी।

गौरतलब है कि, मंगोलपुरी इलाके में कथित तौर पर जन्मदिन की पार्टी के दौरान हुए झगड़े के बाद 25 वर्षीय BJP कार्यकर्ता रिंकू शर्मा हत्या मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंप दी गई है। रिंकू शर्मा की बुधवार 10 फरवरी को चाकू मारकर हत्या कर दी गई थी। रिंकू के परिवार का आरोप है कि राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा एकत्र करने के अभियान में सक्रिय रहने के चलते रिंकू की हत्या की गई है। हालांकि, हत्याकांड को लेकर पुलिस ने किसी भी सांप्रदायिक एंगल से इनकार किया है।

पुलिस का कहना है कि मृतक और आरोपी एक ही इलाके के रहने वाले हैं और एक दूसरे को अच्छी तरह जानते हैं। बुधवार रात जन्मदिन की पार्टी में किसी कारोबारी रंजिश के चलते झगड़ा हुआ था।

पुलिस के मुताबिक, हत्या के मामले में पुलिस ने पांचवें आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान ताजुद्दीन (29) के रूप में हुई है जोकि पहले होम गार्ड के तौर पर कार्य करता था। इससे पहले पुलिस ने गुरुवार को चार अन्य आरोपियों जाहिद, मेहताब, दानिश और इस्लाम को गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने कहा कि घटना की सीसीटीवी फुटेज में दिखाई दे रहा है कि आरोपी पीड़ित के घर की तरफ लाठी-डंडे लेकर जा रहे हैं।

रिंकू शर्मा एक निजी अस्पताल में लैब टेक्निशियन के तौर पर कार्यरत था। घटना के बाद से ही इलाके में भारी तनाव बना हुआ और किसी भी अप्रिय घटना से बचाव के लिए पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। PLC.

Comments

CAPTCHA code

Users Comment