आई.एन.वी.सी.
दिल्ली,
राईट टूरिजेक्ट और राईट टू रिकाल के साथ – साथ ग्राम सभा के अपने नए आंदोलनों के साथ ही अन्ना हजारे ने आज १०.२९ मिनिट्स पर आपना अनशन तोड़ा !  प्रभावी लोकपाल की मांग को लेकर रामलीला मैदान में 13 दिनों से अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने रविवार को मुस्लिम  और दलित समुदाय  की दो बच्चियों के हाथों जूस पीकर अपना अनशन तोडा । अनशन तोड़ने के बाद अन्ना हजारे को अस्पताल ले जाया जाएगा, जहां उनकी मेडिकल जांच की जाएगी। गौरतलब है की मांगों के अनुरूप संसद में लाए गए प्रस्ताव पर बनी सैद्धांतिक सहमति के बाद उन्होंने शनिवार रात को ही अनशन तोड़ने की घोषणा कर दी थी।
13 दिनों से रामलीला मैदान में अनशन पर बैठे थे। शनिवार को संसद के दोनों सदनों में लोकपाल पर अन्ना की तीनों मांगों पर प्रस्ताव पारित हो गया।

इसके बाद केंद्रीय मंत्री विलासराव देशमुख प्रधानमंत्री की चिट्ठी लेकर रामलीला मैदान पहुंचे। चिट्ठी मिलने के बाद अन्ना ने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि ये भ्रष्टाचार के खिलाफ लोकपाल को लेकर आधी जीत है और आधी लड़ाई बाकी है। 12 दिन से अन्न त्यागने वाले 74 बरस के अन्ना हजारे ने अपनी ताकत के दम पर सरकार को लोकपाल के लिए झुका दिया। हालांकि अन्ना हजारे ने समर्थकों को सम्बोधित करते हुए कहा है, ‘जन लोकपाल की यह आधी जीत हुई है। पूरी जीत अभी बाकी है। यह पूरी युवा शक्ति की जीत है। यह जनता की जीत है। यह सामाजिक संगठन की जीत है। यह मीडिया की जीत है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here