Close X
Saturday, October 24th, 2020

अतिवृष्टि हुए नुकसान की भरपाई की जाएगी - अशोक गहलोत

आई.एन.वी.सी,, सीकर,, अशोक गहलोत ने कहा है कि सरकार ने प्रदेश में 15   सितेम्बर  से गिरदावरी शुरू कराने का निर्णय लिया है जिससे खराबे की स्थिति सामने आ सकेगी। उन्होंने कहा कि जहां भी अतिवृष्टि से नुकसान हुआ है वहां इसकी भरपाई की जाएगी। श्री गहलोत मंगलवार की शाम सीकर जिले के नीमकाथाना कस्बे के नेहरू park में विशाल जनसमूह की उपस्थिति में जननी शिशु सुरक्षा योजना का शुभारम्भ  कर रहे थे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में हर वर्ष 16 लाख महिलाओं के डिलीवरी होती है। प्रसव के दौरान इन महिलाओं और बच्चों की समुचित जीवन रक्षा हो सके, इसी उद्देश्य से यह योजना शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि यू.पी.ए. की चैयर पर्सन श्रीमती सोनिया गांधी ने बहुत सोच समझकर जननी शिशु सुरक्षा योजना की शुरूआत की है। वास्तव में यह योजना मां और शिशु की जीवन रक्षा के संकल्प का संदेश देती है। उन्होंने बताया कि प्रसव के समय प्रदेश में हर वर्ष भ् हजार 300 महिलाएं और भ्8 हजार शिशु मौत के मुंह में चले जाते हैं। यह योजना इन माताओं और बच्चों का जीवन बचाएगी। मुख्यमंत्री  ने कहा कि आगामी 2 अक्टूबर से राज्य में मुख्यमंत्री निज्शुल्क दवा वितरण योजना प्रारम्भ  की जा रही है जिसके अंतर्गत 2 से 4 अक्टूबर तक जिलों में कार्यक्रम आयोजित होंगे। उन्होंने बताया कि इस दौरान प्रदेश भर में स्वय  कराकर जननी शिशु सुरक्षा योजना के बारे में  हम फीड बैक लेंगे। उन्होंने बताया कि वे स्वयं भी इस दौरान 9 जिलों का दौरा करेंगे और सामने आने  वाली योजना की कमियों को दूर करने के प्रयास भी करेंगे। उन्होंने लेखकों, साहित्यकारों, प्रबुद्धजनों और अन्य सभी वर्गो  से कहा कि वे इस योजना की कमियों के बारे में बताते रहे ताकि सुधार किया जा सके। श्री गहलोत ने बताया कि जननी सुरक्षा योजना लागू होने से पहले केवल 24 प्रतिशत महिलाएं ही सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराती थी। योजना लागू होने बाद 70 प्रतिशत तक महिलाएं सरकारी अस्पतालों में प्रसव कराने लगी। इस प्रतिशत को बढ़ाने में सभी का सहयोग मिला। ऐसा ही सहयोग अब जननी शिशु सुरक्षा योजना में भी बने रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस योजना के बारे में कोई भी नागरिक ई-मेल के जरिए भी अपने सुझाव दे सकता है। मुख्यमंत्री  ने जनसँख्या  वृद्वि रोकने तथा सभी बच्चों को शिक्षा से जोड़ने की आवश्यकता पर बल दिया और बिजली बचाओ, पानी बचाओ, सबको पढ़ाओ एवं वृक्ष  लगाओ  पर  अमल करने  का  आह्वान किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की खुशहाली का यही रास्ता है। कन्या भ्रूण हत्या को उन्होंने कुदरत के विरूद्व बताया। उन्होंने कहा कि दुनिया में कहीं भी देख लें, पुरूष व महिलाओं के अनुपात में मामूली सा फर्क रहता है। वास्तव में यह कुदरत का कमाल है। कन्या भ्रूण हत्या के कारण यह अनुपात बिगड़ने लगा है जिस पर सबको चिंता होनी चाहिए। मुख्यमंत्री  ने कहा कि चुनावों के समय हमने जनता से सुशासन देने का वादा किया था जिस पर निरंतर अमल किया जा रहा है। प्रदेश में प्रशासन गांवों के संग अभियान चलाकर लाखों ग्रामीणों को घर बैठे राहत पहुंचाई गई। इसी प्रकार 14 नवम्बर  से प्रदेश में प्रशासन शहरों के संग अभियान शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार 40 लाख परिवारों को दो रूपए किलो की दर पर सस्ता अनाज वितरित कर रही है। आवश्यक वस्तुएं लोगों को सहजता से और सस्ती दरों पर सुलभ हो, इसके लिए हमने व्यापारियों को 300 करोड़ रूपए तक की छूटें प्रदान की है। उन्होंने बताया कि किसानों को दी जाने वाली बिजली की दरें पांच वर्ष तक नहीं बढ़ाने के लिए भी सरकार कृत संकल्प है और इसके लिए विद्युत कंपनियों  को सरकार द्वारा प्रतिवर्ष 1320 करोड़ रूपए दिए जा रहे हैं। उन्होंने मानसून के बाद प्रदेशभर में सड़कों की मरम्मत  व निर्माण कर कार्य शुरू कराने, उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से चाय व नमक के बाद शीघ्र ही 10-12 तरह की आवश्यक वस्तुएं और लोगो को उपलब्ध कराने, घरों में पक्के शौचालयों का निर्माण कराने आदि कार्यक्रमों से भी अवगत कराया। मुख्यमंत्री  ने क्षेत्रीय विधायक श्री रमेश खंडेलवाल की मांग पर नीमकाथाना के राजकीय चिकित्सालय को 7भ् बैड से 100 बैड का करने की घोषणा की। इस समारोह में केंद्रीय जनजाति विकास राज्यमंत्री श्री महादेव सिंह खंडेला ने जननी शिशु सुरक्षा योजना की जानकारी गांव-गांव तक पहुंचाने के लिए सभी से सहयोग की अपील की। राज्य के चिकित्सा एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री ए.ए.खान दुरूü मियां ने जननी शिशु सुरक्षा योजना के प्रावधानों की जानकारी दी और बताया कि इस योजनांतर्गत महिलाओं के सुरक्षित प्रसव और नवजात शिशुओं के उपचार पर होने वाला सभी तरह का खर्च सरकार वहन करेगी। उन्होंने बताया कि आगामी 2 अक्टूबर से मुख्यमंत्री निज्शुल्क दवा वितरण योजना का शुभारम्भ  किया जा रहा हैं जिसके अंतर्गत 42भ् तरह की अच्छी ब्रान्ड वाली जैनरिक दवाओं का निज्शुल्क वितरण किया जाएगा। समारोह में पूर्व मंत्री डॉ॰ चंद्रभान, जिला प्रमुख श्रीमती रीटा सिंह, नीमकाथाना विधायक श्री रमेश खंडेलवाल, लक्षमणगढ़ विधायक श्री गोविंद सिंह डोटासरा तथा मुख्य  चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ॰बी.एल.सैनी ने भी विचार  व्यक्त किए। संभागीय आयुक्त एवं जिले के प्रभारी सचिव श्री मधुकर गुप्ता व जिला कलेक्टर श्री धमेüंद्र भटनागर सहित जनप्रतिनिधिगण एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Comments

CAPTCHA code

Users Comment

artificial christmas trees, says on November 25, 2011, 6:21 AM

artificial christmas tree... That is very fascinating, You are an overly professional blogger. I have joined your feed and sit up for searching for more of your wonderful post....