vijay bahadur pathakआई एन वी सी,
लखनऊ,
भारतीय जनता पार्टी ने कहा चैतरफा नाकामियों से जूझ रही अखिलेश सरकार के मंत्री बौखलाहट में ओछी बयानबाजी पर उतर आये हैं। प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि दुर्गा शक्ति नागपाल ने अपने साथ हुई ज्यादती के बारे में कुछ बोला ही नहीं तो झूठ कहा से बोला। इस पूरे प्रकरण पर झूठ तो सरकार बोल रही है जिसका खुलासा एक-एक कर लीक हो रही रिपोर्टों से हो रहा है। झुलझुलाहट और बौखलाहट में मीडिया पर अनर्गल आरोप लगाये जा रहे है। पार्टी के राज्य मुख्यालय पर मंगलवार को संवाददाताओं से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि अखिलेश सरकार के मंत्री अहमद हसन ने उनकी मौजूदगी में मीडिया पर अनर्गल आरोप मढ़े। मीडिया को नागपाल फोबिया हो गया है कहते हुए उन्होंने मीडिया में काले भेड़े हंै तक का जिक्र किया। ये बेहद गैरजिम्मेदाराना सार्वजनिक बयान है। मीडिया को अपने अन्दर झांककर देखने की नसी हत देने वाले खुद अपने अन्दर झांककर देखें तो ज्यादा अच्छा है। जो जिम्मेदारी है उसका तो ठीक ढ़ंग से निर्वहन कर नहीं पा रहे हंै, दूसरों को नसीहत दे रहे हंै। नसीहत देना है तो इस पूरे प्रकरण पर सरकार और मुख्यमंत्री को दंे जो जिलाधिकारी की रिपोर्ट व एल.आई.यू. की रिपोर्ट को झुठलाते हुए दुर्गा शक्ति नागपाल के निलंबन की गलत कार्रवाई को लगातार जायज ठहराने में लगे हुए हैं। उन्होने कहा कि नोएडा का दुर्गा शक्ति प्रकरण अवैध खनन माफियाओं के दबाव में की गई सरकारी कार्यवाही है। एक ईमानदार नौजवान महिला अधिकारी के उत्पीड़न का प्रकरण है। खुद समाजवादी पार्टी के नेता नरेन्द्र भाटी ने दावा किया कि मैंने
41 मिनट में निलंबन कराया। किस तरह सत्ता उनकी मुट्ठी में है इसकी सेखी बघारते हुए उन्होंने कहा कि रातो रात निलंबन का यह आदेश जिलाधिकारी के हाथ में पहंुचा। अब मंत्री अहमद हसन नागपाल के खानदान पर ओझी टिप्पणियां कर रहे हंै। ये टिप्पणियां कर समाजवादी पार्टी के लोग इस पूरे मामले में क्या कहना चाहते है? दरअसल नागपाल प्रकरण सरकार के गले में अटक गया है। एक के बाद एक झूठ का  हारा ले रही उ0 प्र0 की सरकार के पास इस पूरे प्रकरण पर कहने को कुछ नहीं है इसलिए अंर्तगत प्रलाप किए जा रहे हंै। श्री पाठक ने कहा कि 17 महीने सरकार को अपने खिलाफ हर जगह साजिश ही नजर आ रही है। कभी उसे ब्यूरोक्रेशी साजिश करती हुई नजर आती है, कभी विपक्षी दलों की साजिश दिखती है तो कभी मीडिया की साजिश नजर आती है। सरकार के पास पूरा तंत्र है, अभिसूचना की ईकाई है इन साजिशों की जानकारी कर खुलासा कराये, कहां और कौन साजिश कर रहा है। वास्तविकता है कि सरकार अपनी नाकामियों का ठिकरा हर बार दूसरों के सिर मढ़ काम चलाना चाहती है। यह साजिश के आरोप भी उसी रणनीति का हिस्सा है। उन्होने बताया कि आज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 लक्ष्मीकांत बाजपेयी के नेतृत्व में भाजपा का एक प्रतिनिधि मण्डल महामहिम राज्यपाल से दुर्गा शक्ति नागपाल के निलंबन के संदर्भ में मिला ज्ञापन दिया। प्रतिनिधि मण्डल में प्रदेश अध्यक्ष के साथ पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष गोपाल जी टण्डन, प्रदेश मंत्री दयाशंकर सिंह, अनूप गुप्ता, प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here